भारतीय दंड संहिता की धारा 54 क्या हैं ? IPC Section 54 In Hindi

IPC Section 54 In Hindi हॅलो ! इस पोस्ट में हम आपको भारतीय दंड संहिता के धारा 54 के बारे में जानकारी देने वाले हैं । भारतीय दंड संहिता के धारा 54 में मृत्युदंड की सजा को कम करना इसके बारे में जानकारी देने वाले हैं ।

IPC Section 54 In Hindi

भारतीय दंड संहिता की धारा 54 क्या हैं ? IPC Section 54 In Hindi

भारतीय दंड संहिता की धारा 54 क्या हैं ? –

भारतीय दंड संहिता के धारा 54 में मृत्युदंड की सजा को कम करना इसके बारे में जानकारी दी हैं । भारतीय दंड संहिता की धारा 54 के अनुसार किसी भी मामले में जिसमें मृत्यु का दंडादेश दिया हैं ऐसे दंड को अपराधि के सहमती के बिना भी समुचित सरकार इस संहिता का उपयोग करके अन्य दंड में रुपांतरित कर सकती हैं ।

अब हम आपको इस धारा को आसान भाषा में समझाते हैं । जब अपराधी को मृत्युदंड मतलब फांसी की सजा सुनाई जाती हैं तब राज्य सरकार या केंद्र सरकार उस सजा को कम कर सकती हैं मतलब फांसी की सजा अगर घोषित की गई हो तो उसे उम्रकैद की सजा में बदल सकती हैं । लेकिन ऐसा सभी केसेस में नहीं किया जाता । ऐसा करने से पहले केंद्र सरकार या राज्य सरकार परिस्थितियों को देखती हैं ।

सभी परिस्थिती देखकर अगर केंद्र सरकार या राज्य सरकार को ऐसा लगता हैं की अपराधी की सजा कम की जानी चाहिए । तब अपराधी की सजा कम की जाती हैं । लेकिन अगर राज्य सरकार को ऐसा करना हैं तो इसके लिए अपराधी की केस जिस कोर्ट में चल रही हैं वह कोर्ट उस राज्य के अधिकारक्षेत्र में आना चाहिए और अगर केंद्र सरकार किसी अपराधी की मृत्युदंड की सजा कम करना चाहता हैं तो वह कोर्ट केंद्र सरकार के अधिकारक्षेत्र में मतलब देश में किधर भी होना चाहिए ।

इस पोस्ट में हमने आपको भारतीय दंड संहिता के धारा 54 के बारे में जानकारी दी हैं । हमारी यह पोस्ट शेयर जरुर किजिए । धन्यवाद !

Leave a Comment