इनकम टैक्स (आयकर) रिटर्न क्या हैं ? What Is Income Tax Return?

What Is Income Tax Return? हॅलो ! इस पोस्ट में हम आपको इनकम टैक्स रिटर्न कैसे फाइल करें इसके बारे में जानकारी देने वाले हैं। अब इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) आवश्यक बन गया है। यह व्यापारी लेनदेन के साथ अन्य मामलों का भी आधार बना हुआ हैं। बहुत लोगों को लगता हैं की इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करना बहुत कठीन हैं और इसके लिए सीए की आवश्यकता पड़ेगी। लेकिन अब ऐसा नहीं हैं अब इनकम टैक्स भरना बहुत आसान हो गया है।

What Is Income Tax Return?

इनकम टैक्स (आयकर) रिटर्न क्या हैं ? What Is Income Tax Return?

अब इनकम टैक्स फाइल करने के लिए बहुत रास्ते आ गए हैं। इस वजह से आप इनकम टैक्स रिटर्न आसानी से फाइल कर सकते हैं। इनकम टैक्स रिटर्न कैसे फाइल करें इसके बारे में विस्तार में जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारी पोस्ट अंत तक जरुर पढिए।

इनकम टैक्स (आयकर) रिटर्न क्या हैं ? –

भारत में हर नागरिक को अपने आय के अनुसार कर भारत सरकार को देना होता हैं। चाहे फिर वह व्यक्ती या असोसिएशन हो। हर वित्तीय वर्ष में आयकर कानून के अनुसार आय पर कर लगवाया जाता हैं। हर साल कर भरना जरूरी होता हैं।

अगर आपकी वार्षिक आय सरकार ने जो कर छुट की लिमिट रखी हैं उससे ज्यादा हैं तो आपको हर साल के कर स्लैब के अनुसार कर भरना होगा। जो तारीख दी हैं उसमें अगर कर नहीं भरा जाता तो आपके उपर जुर्माना लगवाया जा सकता है।

इनकम टैक्स रिटर्न कैसे फाइल करें ?-

  • अगर आप इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको कौनसा फाॅर्म भरना हैं यह निश्चित करना हैं क्योंकी इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए सात फाॅर्म होते हैं। इसमें से कोई एक फाॅर्म भरना होता हैं।
  • अगर आपकी सालाना आय 50 लाख रुपए से कम हैं तो आप आईटीआर फाॅर्म 1 भर सकते हैं। यह फाॅर्म ज्यादा से ज्यादा लोगों के द्वारा भरा जाता हैं।
  • इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए आपको सबसे पहले इनकम टैक्स रिटर्न के पोर्टल पर जाना हैं। आपको www.incometax.gov.in/iec/foportal इस वेबसाइट पर जाना हैं।
  • अगर आपका पहले से लाॅगिन आईडी बना हुआ हैं तो उसके मदद से लाॅगिन किजिए और अगर आपका लाॅगिन आईडी नहीं बना हैं तो आपको रजिस्टर करने की जरूरत होगी‌।
  • अगर आपको रजिस्टर करना हैं तो आपको मोबाइल नंबर, पैनकार्ड, ईमेल एड्रेस, करंट एड्रेस प्रुफ इन चीजों की जरूरत होगी।
  • यह सब जानकारी भरने के बाद आपको रजिस्ट्रेशन वेरीफाई करने की जरूरत होगी। वेरिफिकेशन के लिए आपके मोबाईल नंबर पर वन टाइम पासवर्ड (OTP) भेजा जाएगा। आपके ईमेल आईडी पर वेरीफिकेशन लिंक भेजी जाएगी। उस लिंक पर क्लिक करके आपको वेरीफिकेशन पूरा करना हैं। इस तरह से आपका रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाएगा।
  • अब आपके सामने ‘ई-फाइल’ यह विकल्प दिखेगा। इसके उपर आपको क्लिक करना हैं। इसके बाद आपको इनकम टैक्स रिटर्न के वेबसाइट पर क्लिक करना हैं।
  • अब आपके सामने आपने पहले भरा हुआ पैनकार्ड डिटेल आ जाएगा। इसके बाद आपको आईटीआर फाॅर्म का नंबर, असेसमेंट ईयर, फाईलिंग टाइप इसमें आपको ओरिजनल या रिटर्न इसमें से कोई एक चुनना हैं। इसके बाद ‘जारी रखें’ इस विकल्प पर क्लिक करना हैं।
  • इसके बाद आपसे कुछ महत्वपूर्ण जानकारी मांगी जाएगी। वह आपको भरनी हैं और कन्फर्म इस विकल्प पर क्लिक करना हैं।
  • इसके बाद आपकी आय कितनी हैं और कटौती कितनी हैं यह जानकारी भी आपको भरनी हैं।
  • अब आपके सामने टैक्स पैड और सत्यापन का पेज ओपन हो जाएगा। अगर आपकी कोई टैक्स लाइबिलिटी हैं तो आपको उसके भुगतान के लिए कोई विकल्प चुनना हैं और अगर ऐसा नहीं हैं तो ‘प्रीव्यू रिटर्न’ इस विकल्प पर क्लिक किजिए।
  • टैक्स कैलक्युलेशन के आधार पर अगर आपको कोई रिफंड मिलना हैं तो आपका पेज बॅक हो जाएगा।
  • अब ‘प्रीव्यू एंड सबमिट रिटर्न’ इस विकल्प पर आपको क्लिक करना हैं और रिटर्न फाइल करने की जगह का नाम भरना हैं।
  • इसके बाद आपको डिक्लरेशन चेकबाॅक्स पर क्लिक करना हैं। इसके बाद ‘वैलिडेशन के लिए आगे बढे’ इस विकल्प पर क्लिक करना हैं। रिटर्न वेरीफाई होने के बाद आपको ‘सबमिट रिटर्न’ इस विकल्प पर क्लिक करना हैं। वेरिफिकेशन पूरा करना अनिवार्य होता हैं।
  • यह सब प्रक्रिया पुरी होने के बाद आपकी इनकम टैक्स रिटर्न फाॅर्म 1 भरने की प्रक्रिया पुरी हो जाएगी। इसके बाद आपको जो स्क्रिन पर ट्रांजेक्शन आईडी और एक्नोलेजमेंट नंबर दिखेगा उसको नोट करके रखना हैं। यह आपको भविष्य में इनकम टैक्स रिटर्न फिलिंग का स्टेटस चेक करने के लिए लगता हैं।

आईटीआर रिफंड में देर होने के कारण –

कभी-कभी आईटीआर भरने के बाद रिफंड होने में देर लगती हैं। इसके बहुत कारण हो सकते हैं। वह कारण कौन कौनसे हैं वह हम आपको अब बताने वाले हैं।

  • रिफंड रिक्वेस्ट में गड़बड़
  • आईटीआर में जानकारी की कमी या अधुरी जानकारी
  • बैंक अकाउंट में गलत डिटेल्स
  • डिडक्शन में गड़बड़

FAQ

इनकम टैक्स रिटर्न क्या हैं ?

भारत में हर नागरिक को अपने आय के अनुसार कर भारत सरकार को देना होता हैं। चाहे फिर वह व्यक्ती या असोसिएशन हो। हर वित्तीय वर्ष में आयकर कानून के अनुसार आय पर कर लगवाया जाता हैं। हर साल कर भरना जरूरी होता हैं। अगर आपकी वार्षिक आय सरकार ने जो कर छुट की लिमिट रखी हैं उससे ज्यादा हैं तो आपको हर साल के कर स्लैब के अनुसार कर भरना होगा।

इनकम टैक्स रिटर्न किस वेबसाइट पर भरना होगा ?

इनकम टैक्स रिटर्न www.incometax.gov.in/iec/foportal इस वेबसाइट पर भरना होगा।

इनकम टैक्स रिटर्न फाॅर्म 1 कौन भर सकता हैं ?

अगर आपकी सालाना आय 50 लाख रुपए से कम हैं तो आप आईटीआर फाॅर्म 1 भर सकते हैं। यह फाॅर्म ज्यादा से ज्यादा लोगों के द्वारा भरा जाता हैं।

आईटीआर रिफंड होने के क्या कारण हो सकते हैं ?

आईटीआर रिफंड होने के बहुत कारण हो सकते हैं जैसे की रिफंड रिक्वेस्ट में गड़बड़, आईटीआर में जानकारी की कमी या अधुरी जानकारी, बैंक अकाउंट में गलत डिटेल्स, डिडक्शन में गड़बड़ आदी।

इस पोस्ट में हमने आपको इनकम टैक्स रिटर्न कैसे फाइल करें इसके बारे में जानकारी दी हैं। हमारी पोस्ट शेयर जरुर किजिए। धन्यवाद !

Leave a Comment